अनुसंधान विश्लेषण और क्षमता निर्माण प्रभाग

"बदलती वैश्विक ज्ञान अर्थव्यवस्था में वैश्विक प्रतिस्पर्धा देश के अनुसंधान और विकास नीवं के विस्तार और सही आकार की मांग करती है": (डीएसटी इंस्पायर)
आरएसीबी एक नव निर्मित प्रभाग है और इसकी स्थापना के उद्देश्य को क्यूसीआई और इसके सभी बोर्डों के लिए सम्बंधित क्षेत्रों में नूतन अवसरों जिसमें भविष्य में अपरा संभावना पर काम  करना है| इस प्रभाग के अन्य उद्देश्यों के अनुसार इसको  संगठन की गतिविधियों से संबंधित विषयों पर कार्यशालाओं/संगोष्ठियों के आयोजन के साथ-साथ व्यापार विविधीकरण के नूतन उपकरण और पद्धतियां, सीएसआर, सहयोग, मूल्यांकन और प्रमाणन में प्रक्रिया निर्माण पर ध्यान केंद्रित करना है |इस प्रभाग के माध्यम से, क्यूसीआई और इसके घटक बोर्ड इन-हाउस परियोजनाओं, प्रायोजित परियोजनाओं, सहयोगी अनुसंधान परियोजनाओं के साथ-साथ संगठन में परामर्श कार्यों को सुगम बना सकते हैं । आरएसीबी भविष्योन्मुख होते हुए इन-हाउस व्यवसाय के विविधीकरण से  सम्बंधित संगठनात्मक अनुसंधाओं को  रिकॉर्ड और विनियमित करने की जिम्मेदारी ले सकता है। प्रभाग उन गतिविधियों का भी सन्दर्भ में ले सकता जो क्यूसीआई और उसके विभिन्न बोर्ड द्वारा आरम्भ किया जाता है नए प्रस्तावों और सेवाओं के रूप में नवाचार या प्रस्तावित करने के लिए । यह लाज़िमी है कि विभाग आमतौर पर तत्काल लाभ की उम्मीद के साथ काम नहीं करेगा, हालांकि, क्यूसीआई की दीर्घकालिक लाभप्रदता में योगदान करने की उम्मीद है। परियोजनाओं  के लिए नए आईपीआर के रूप में पेटेंट, कॉपीराइट और ट्रेडमार्क दाखिल करने के माध्यम से, यह विभाग  गतिविधियों का नेतृत्व करने के लिए काम कर रहा है। इस विभाग से यह आशा है की यह भिन्न क्षेत्रों जैसे प्राद्योगिकी, अनुसन्धान और सामाजिक जरूरतों पर क्षमता सृजन प्रोग्राम करके रुचिगत क्षेत्रों में गुणवत्ता का संवर्धन कर सकता है | यह प्रभाग आने वाले वर्षों में शिक्षा, खेल, अनुसंधान, पर्यावरण, उद्योग और सामाजिक सेवाओं के क्षेत्र में परियोजनाओं को पूरा करने के लिए आवश्यक प्रयासों की तलाश कर रहा है, जिससे संगठन को अंदर और बाहर महत्वपूर्ण मान्यता प्राप्त हो सके।

QCI © 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित
7Techies के द्वारा प्रबंधित
आखरी अपडेट: 28 दिसंबर 2021.