परियोजना योजना और कार्यान्वयन प्रभाग

परियोजना योजना और कार्यान्वयन प्रभाग की मूल परिकल्पना इसके वर्तमान अध्यक्ष- श्री आदिल ज़ैनुलभाई और महासचिव- डॉ. रवि पी सिंह की है। उन्होंने अनुभव किया कि सरकार के पास अवसरों की बहुतायत है और युवाओं के पास योगदान देने के लिए बहुत कुछ है, पुनः उन्होंने अनुभव किया की सरकार के पास सूचनाओं और डेटा का अम्बार था, जिसके विश्लेषण और माप के लिए एक प्रतिबद्ध कार्यबल की आवश्यकता होती है जिसका उपयोग विभाग/मंत्रालय के समग्र मार्गदर्शन के तहत विभिन्न योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए किया जा सकता है।  हालांकि सरकार इस तरह के कर्मचारियों को अल्पावधि के लिए भर्ती नहीं कर सकती थी, भारतीय गुणवत्ता परिषद जैसे अर्ध सरकारी संगठनों में एक प्रावधान बनाने की आवश्यकता थी जो इस लंबे से अनुभव की जाने वाली शून्यता को भर  सके। इसलिए, उन्होंने युवा पेशेवरों की एक टीम स्थापित करने की शुरुआत की, जो प्रमुख मुद्दों पर सरकार को बाहर से मदद कर सकते हैं और जहां भी आवश्यक हो, सहायता प्रदान कर सकते हैं। क्यूसीआई में परियोजना योजना और कार्यान्वयन प्रभाग के निर्माण की यह मूलभूत प्रेणना थी।

तब से, परियोजना योजना और कार्यान्वयन प्रभाग एक इकाई के रूप में विकसित हुआ है जो प्रोजेक्ट्स के प्रकृति के हिसाब से भारतीय गुणवत्ता परिषद् के विभिन्न बोर्ड्स से  विशेषज्ञता अर्जित करता है, फिर भी जमीन पर  परियोजनाओं के कार्यान्वयन को बैकएंड पर इस टीम द्वारा प्रबंधित किया जाता है। इस समूह के युवा पेशेवर रणनीति और मॉनिटरिंग परियोजनाओं पर विभिन्न मंत्रालयों और विभागों के साथ काम करते हैं। यद्यपि परियोजना योजना और कार्यान्वयन प्रभाग जून 2015 में प्रारम्भ किया गया था, इसे सितंबर 2015 में अपनी पहली परियोजना प्राप्त हुई जिसमें नागरिकों की शिकायतों का विश्लेषण करके सार्वजनिक सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार के लिए 20 केंद्रीय मंत्रालयों में वरिष्ठ नौकरशाहों के साथ काम करना शामिल था।

अधिक जानकारी देखें......यहां क्लिक करें

QCI © 2020 सर्वाधिकार सुरक्षित
7Techies के द्वारा प्रबंधित
आखरी अपडेट: 28 दिसंबर 2021.